• Mon. Sep 21st, 2020

सरकार ने दी बाबा राम देव को करोनिल बेचने की हरी झंडी।

Spread the love
Read Time:2 Minute, 36 Second

1 July 2020 को हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस मैं बाबा रामदेव ने कोरोना वायरस की दवाई कोरोनिल का जिक्र करते हुए कहा, कि आयुष मंत्रालय ने पतंजलि को कोविड-19 प्रबंधन से जुड़े कार्य के लिए प्रोत्साहित किया है।  बाबा रामदेव ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए ये भी कहा कि उन्होंने RANDOMIZED PLACEBO CONTROLLED DOUBLE BLIND क्लिनिकल ट्रायल भी किया है, और उसका भी पूरा डाटा आयुष मंत्रालय को दिया है।बाबा रामदेव ने CORONIL के लाइसेंस की जानकारी देते हुए कहा कि दवाई बनने से पहले उनके पास लाइसेंस भी था और उन्होंने यह दवाई के लिए रजिस्टर भी किया था। यह सब डाटा आयुष मंत्रालय को दे दी गई थी जिसके बाद आयुष मंत्रालय ने योग गुरु बाबा रामदेव को दवा बेचने के लिए हरी झंडी दे दी है। योग गुरु बाबा रामदेव ने कोरोनिल और शस्वारी इम्यूनिटी बूस्टर लांच किया और दावा किया कि यह इंडिया में हर जगह उपलब्ध होगा।


इससे पहले 23 जून के दिन दोपहर 12:00 बजे हरिद्वार में पतंजलि के मुख्य सेंटर पर योग गुरु बाबा रामदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी और यह दावा किया था कि पतंजलि रिसर्च इंडिया और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस ने जयपुर के कॉलेज के साथ मिलकर उन्होंने एक ऐसी आयुर्वेदिक दवाई बनाई है जो कोविड-19 में 100% उपयोगी और कारगर है।

यह दवाई लांच करते समय बाबा रामदेव ने यह भी कहा था कि इस दवाई को लॉन्च करने के लिए दो बार ट्रायल किए गए।इस ट्रायल में  280 लोगों को शामिल किया गया था जिनमें से 100 लोगों को चुना गया और 95 लोगों का इलाज हुआ और 69% लोग 3 दिन में ठीक हो गए। 
हालांकि उनके इस बयान के बाद उन्हें सोशल मडिया लोगो ने काफी ट्रॉ

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *